Affiliate marketing Kya Hai in Hindi

Affiliate marketing Kya Hai in Hindi

आज ऑनलाइन दुनिया में Affiliate marketing कर के पैसा बहुत ही आसानी से बना सकते है | दोस्तों मै आपको बता दू अगर आप कही से भी आप Content अच्छे से सिख लेते है तो आप हर महीने का 40,000 से लेकर 100,000 रूपये तक कमा सकते है | लेकिन आपको अच्छा नॉलेज होना चाहिए

दोस्तों आज के इस पोस्ट में से पैसे कैसे कमाए इसके बारे में अध्यन करने वाले है | और आप इस पोस्ट को अच्छे से पूरा पढियेगा तब आप समझ पाएंगे की affiliate marketing कैसे किया जाता है तो चलिए शुरू करते है |

Affiliate Marketing Kya Hai-

affiliate marketing भी Online marketing करने का एक तरीका है | जिससे की आप अलग अलग लोगो से मिलते है और आप अपने Product या किसी दूसरे company के Product के बारे में बताते है | जब कोई आपके Affiliate Link से को Product खरीदता है तो आपको कुछ प्रतिशत के हिसाब से आपको commission मिलता है जिसे हम affiliate marketing कहते है |

एफिलिएट मार्केटिंग कैसे कार्य करता है | How to work affiliate marketing

कोई भी कंपनी या आर्गेनाइजेशन अपने प्रोडक्ट को परमोटे करने के लिए वह एफिलिएट प्रोग्राम का आयोजन करती है जैसे कोई अन्य लोग जिससे दूसरे ब्लॉग या वेबसाइट के जो ओनर होते है उस प्रोग्राम में पार्टिसिपेट करते है जो भी कंपनी होती है या आर्गेनाइजेशन उस ब्लॉग या वेबसाइट ओनर को कंपनी अपने प्रोडक्ट का परमोशन करने के लिए अपने कंपनी का logo ,banner or link प्रदान करते है | और जो ब्लॉग या वेबसाइट का ओनर होता है वो अपने वेबसाइट पर अलग अलग तरीके से उस लिंक को लगाता है |

कंपनी ये भी देखती है की वेबसाइट या ब्लॉग पर visitor ज्यादा आ रहे है तो कंपनी उसी को ज्यादा ऑफर करती है | visitor कोई उस वेबसाइट पर आता है अगर कोई visitor व्ब्सिटे पर लगाए गए लिंक के द्वारा कोई प्रोडक्ट खरीदता है या किसी सर्विस के लिए signup करता है | उस वेबसाइट के द्वारा लिंक से जितना भी प्रोडक्ट ख़रीदा गया होता है कंपनी ओनर को commission दे देती है | इसी तरह से एफिलिएट मार्केटिंग काम करता है |

एफिलिएट मार्केटिंग से संबंधित परिभाषाएँ-

1. एफिलिएट मार्केटिंग (Affiliate Marketing) : Affiliate उसे कहा जाता है जो एफिलिएट प्रोग्राम को पार्टिसिपेट करता हो और कम्पनी के प्रोडक्ट्स को अपने वेब्सीट्ये या ब्लॉग के द्वारा उसे Permote करता हो वो होता है एफिलिएट मार्केटर |

2. एफिलिएट मार्केटप्लेस (Affiliate Marketplace) : कुछ तो ऐसे भी कंपनी होती है अपने अलग अलग फील्ड में एफिलिएट प्रोग्राम को पार्टिकिपेट्स करने के लिए ऑफर करती रहती है उसे ही हम एफिलिएट मार्केटप्लेस कहते है |

3. एफिलिएट आईडी (Affiliate ID) : अगर आप कभी भी एफिलिएट प्रोग्राम्स में परिसिपेट्स करते है यो आपको एक फ्रेश ID प्रदान की जाती है ताकि आपको प्रोडक्ट्स को सेल्स करने में आपको कोई परेशानी होती है तो कुछ जानकारिया जुटाने में बहुत ही ज्यादा मदद करती है |

4. लिंक-लुकिंग (Affiliate Looking) : अधिक्तर देखने को मिलता है एफिलिएट लिंक्स जो होते है वो काफी बड़े terms में लिखे गए होता है लेकिन वो देखने में अच्छा नहीं लगता है इसलिए URL Shortners की मदद से अपने URL को अच्छे दिखने के लिए छोटा कर सकते है |

5. एफिलिएट मैंनेजर (Affiliate Manager) : जितने भी अफिलिएट प्रोग्राम होते है उन सभी के जरिए Affiliates को सहायता एवं मदद करने के लिए कुछ ऐसे ब्यक्ति को रखा जाता है जिन्हे हम affiliates Manager कहते है |

6. पेमेंट मोड (Payment Mode) : जो एफिलिएट मार्केटर होते है वो अपनी कमीशन लेने के लिए कुछ अलग-अलग mettod का इस्तेमाल करते है|
जैसे – Paypal , Cheque , Wire Transfer etc.
दोस्तों मैं आसा करता हूँ की आप लोगो को ये पोस्ट पढ़कर अच्छा लगा होगा और अच्छे से समझ भी आ गया होगा | तो इस पोस्ट को शेयर जरूर करे धन्यवाद ! और भी कुछ अधिक जानकारी पाने के लिए comment box में अपनी राय दे सकते है |

Leave a Comment